Home साहित्य समाजसेवी स्व. बलदेव प्रसाद जोशी की कर्मभूमि बखरोटी गांव खंडहर में तब्दील

समाजसेवी स्व. बलदेव प्रसाद जोशी की कर्मभूमि बखरोटी गांव खंडहर में तब्दील

4० परिवारों से भरा पूरा बखरोटी गांव 2०१४ से वीरान
देहरादून। देहरादून—ऋ षिकेश मार्ग पर वीरपुर बडकोट (निकट रानीपोखरी—डांडी) से तीन किमी दूरी पर स्थित टिहरी जनपद के ग्राम पंचायत कोडारना का बखरोटी गांव आज खंडहरों में तब्दील हो गया है। किसी समय में गांव में 4० परिवारों से चहल—पहल रहने वाला यह गांव आज खंडहर है। लेकिन इसकी माटी में आज भी स्व. बलदेव जोशी के आदर्शो, संस्कारों, समाजोपयोगी कार्यो की खुशबू आ रही है। शिक्षक व कवि जगदीश ग्रामीण ने अपने ‘दर्द-ए—गांव’ में इस गांव की वर्तमान तस्वीर को अपने आंखों से देखकर बयां किया है। उनके अनुसार बखरोटी गांव स्व. बलदेव प्रसाद जोशी की जन्मभूमि व कर्मभूमि रही है। यह गांव आज भले ही खंडहरों में तब्दील हो गया हो,लेकिन इसकी माटी के कण—कण से स्व. बलदेव प्रसाद जोशी के आदर्शो,संस्कारों व समाजोपयोगी कार्यो की खुशबू आ रही है। स्व. बलदेव प्रसाद ने जीवन भर खादी का प्रचार-प्रसार किया। चरखा चलाया, खादी के कपडे पहने। गांव वालों को प्रेरित किया। मद्यनिषेध के लिए गांव—गांव पैदल जाकर जन जागरण किया। भोगपुर,थानो,रानीपोखरी आदि क्षेत्रों में बच्चों की टोलियां लेकर नारे लगाते हुए वे पैदल चलते थे। बखरोटी गांव आदर्श गांव कहलाता था। इस गांव में कोई भी व्यक्ति मदिरापान, मांसाहार, धूम्रपान नहीं करता था। गांव के लोगों से रिश्ता करने के लिए लोग बहुत डरते थे क्योंकि इस गांव के आदर्शो, संस्कारों के साथ घुलना—मिलना इतना सरल व सहज नहीं था। लेकिन जो परिवार इस गांव के वाशिंदों से नाते—रिश्ते में जुड़ जाता था वह इनके जैसा ही संस्कारित हो जाता था।

बलदेव प्रसाद जोशी स्वयं शिक्षक थे। उन्होंने उस कठिन दौर में भी शिक्षा और संस्कारों के प्रचार प्रसार के लिए धरातम पर काम किया। उनके परिवार में अधिकांश लोग शिक्षक हैं। इस गांव का कोई भी व्यक्ति देहरादून, ऋ षिकेश या अन्य स्थानों पर जहां भी मिलेगा, उनकी नई पीढ़ी में आज भी वहीं संस्कार वहीं आदर्श देखने को मिलेंगे। इसका श्रेय कर्मयोगी बलदेव प्रसाद जाशी को जाता है। गांव की माटी से प्रेम करने वाले सज्जन अंतिम दिनों में अस्वस्थ हुए तो उनके परिवार के लोग उनको रानीपोखरी लाए और वहीं उन्होंने अंतिम सांस ली। स्व. बलदेव प्रसाद जोशी के कार्यो की चर्चा आज भी हर महफिल में हर चौपाल में होती है। लेकिन दु:खद है कि स्व. बलदेव प्रसाद जोशी की कर्मभूमि आज खंडहर में तब्दील हो गयी है। हालांकि उनके द्वारा लगाए गए पौधे आज यौवन पर है। जिंदगी भर अपना क्षण—क्षण देने वाले धरातलीय कर्मयोगी स्व. बलदेव प्रसाद जोशी को सच्च्ी श्रद्धांजलि यही होगी कि हम उनकी कर्मभूमि को खंडहरों से मुक्ति दिलाकर पुन: इस गांव को आबाद कर सकें।

उन्होंने कहा कि यह गांव 2०१४ में आबादी रहित हो गया था।पहले इस गांव में लगभग 4० परिवार रहते थे, लेकिन आज यह खंडहर है। मेरा तो यह कहना है कि इस गांव को, इस धरोहर को बचाया जाना चाहिए। स्व. बलदेव की इस कर्मभूमि को जो भी देखने जाएगा, निश्चित रूप से वह इस महापुरुष के कार्यो से प्रेरित होकर समाज को लाभान्वित करेगा। उन्होंने कहा कि उनकी इस कर्मभूमि को राष्ट्रीय धरोहर घोषित किया जाए। इसका रखरखाव किया जाए। जिससे आने वाली पीढ़ी उनके योगदान को स्मरण कर लाभान्वित हो सकेगी।
-—-—-—-—-—-—-—-—-—-—-—-—-—-—-—-—-—-—-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

सीएम धामी ने बच्चों के साथ सुनी प्रधानमंत्री की मन की बात

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने राष्ट्रीय दृष्टि दिव्यांगजन सशक्तिकरण संस्थान के सभागार में संस्थान एवं समाज कल्याण विभाग के राजकीय आश्रम पद्धति विद्यालय...

स्वास्थ्य शिविर का 62 पत्रकारों व उनके परिजनों ने उठाया लाभ

देहरादून। उत्तरांचल प्रेस क्लब में लायंस क्लब के सहयोग से पत्रकारों व उनके पारिवारिक सदस्यों के लिए स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया। शिविर...

महानगर भाजपा के प्रतिनिधियों ने सीएम से की भेंट

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से शनिवार को मुख्यमंत्री आवास स्थित कैम्प कार्यालय में महानगर भाजपा के प्रतिनिधियों ने भाजपा महानगर अध्यक्ष सिद्धार्थ अग्रवाल...

महिलाओं को सरकारी नौकरी में 30 प्रतिशत क्षैतिज आरक्षण लागू किए जाने पर महिला मोर्चा ने सीएम का जताया आभार

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय स्थित मुख्य सेवक सदन में भाजपा प्रदेश महिला मोर्चा द्वारा आयोजित कार्यक्रम में...

जोगीवाला में अतिक्रमण पर चला बुलडोजर

देहरादून। जोगीवाला में प्रशासन ने बुलडोजर चलाकर अतिक्रमण हटाया गया। चिह्नित किए गए अतिक्रमण को शनिवार को प्रशासन ने बुलडोजर चलाकर शुरू किया। प्रशासन...

भाजपा ने की प्रदेश कार्यसमिति और विशेष आमंत्रित सदस्यों की घोषणा, देखें लिस्ट

देहरादून। भाजपा ने प्रदेश कार्यसमिति और विशेष आमंत्रित सदस्यों की घोषणा कर दी है। प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट के निर्देश पर यह नियुक्तियां की...

मुख्यमंत्री ने स्कूली बच्चों के साथ ‘परीक्षा पे चर्चा-2023’ कार्यक्रम में किया प्रतिभाग

देहरादून। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम से ‘परीक्षा पे चर्चा- 2023’ कार्यक्रम में देश के छात्र-छात्राओं, अध्यापकों एवं अभिभावकों से संवाद...

प्रथम विंटर कार्निवाल बैंडमिंटन चैंपियनशिप पांच फरवरी को

देहरादून।  देवभूमि बैडमिंटन वेलफेयर सोसाइटी की ओर से प्रथम विंटर कार्निवाल बैडमिंटन डबल्स चैंपियनशिप पांच फरवरी को परेड ग्राउंड स्थित बैडमिंटन हाॅल में आयोजित...

गणतंत्र दिवस: सराहनीय सेवाओं के लिए पुलिस अधिकारियों को किया सम्मानित, उद्यान विभाग की झांकी रही प्रथम

देहरादून। 74वें गणतंत्र दिवस पर राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) ने गुरुवार को परेड ग्राउंड में आयोजित गणतंत्र दिवस समारोह में ध्वज...

गणतंत्र दिवस पर क्रिकेटर ऋषभ पंत की मदद करने वाले हुए सम्मानित

देहरादून। गणतंत्र दिवस के अवसर पर परेड ग्राउंड देहरादून में राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) एवं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सड़क...

Recent Comments

हेमवती नंदन कुकरेती महामंत्री हिन्दी साहित्य समिति देहरादून on हाईकोर्ट ने चारधाम यात्रा पर लगी रोक को कुछ शर्तों के साथ हटाई