Home विविध स्वदेशी तत्व ऑर्गेनिक्स उत्तराखंड के किसानों को देगा रोजगार के नए अवसर

स्वदेशी तत्व ऑर्गेनिक्स उत्तराखंड के किसानों को देगा रोजगार के नए अवसर

महिला उद्यमी ने “स्वावलंबी उत्तराखंड” की ओर बढ़ाया कदम

देहरादून। स्वदेशी तत्व ऑर्गैनिक्स ने देहरादून में अपनी उत्पाद श्रृंखला शुरू की। स्वदेशीत्व संगठन उत्तराखंड के किसानों की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए एक नया अवसर लेकर आ रहा है। यह उत्तराखंड की भूमि से समृद्ध हिमालय का एक ब्रांड है, जो पूर्ण रूप से आयुर्वेदा, होम एसेंशियल कास्मेटिकस, हेल्थ सप्लीमेंट्स और अन्य ऐसे एफएमसीजी दैनिक जरूरतों के लिए आवश्यक उत्पादों पर काम कर रहा है। कार्यक्रम के चीफ गेस्ट पद्म भूषण और पद्मा डॉ अनिल जोशी, संस्थापक हेस्को ने कहा कि हिमालय और पहाड़ों के लोगों के बीच हमेशा यह पीड़ा रही है कि इसके संसाधनों का लाभ सही तरीके से उन तक नहीं पहुंच पाया है। इस संदर्भ में शायद अधिक महत्वपूर्ण यह है कि हम आज तक ऐसे ब्रांड तक नहीं पहुंच पाए हैं, जिसे हम अपना बड़ा स्थानीय ब्रांड मानते हैं जिसमें सामूहिक भागीदारी है, जिसकी कोई चर्चा है। और जैसा कि मैंने हमेशा कई बार कहा है कि अब हिमालय और पहाड़ों में गांवों की भागीदारी के साथ उत्पाद बनाने का समय है। ऐसा ही एक सामूहिक प्रयास आज हमारे बीच में है, और इसका मूल उद्देश्य एक विकेन्द्रीकृत तरीके से दूर-दराज के घरेलू गाँवों को जोड़ने वाले सामूहिक उद्योग की कल्पना करना है। यह निश्चित रूप से एक प्रारंभिक पहल है और कुछ हद तक परिणाम भी बेहतर होने लगे हैं। हम इस उद्योग में अधिक से अधिक लोगों को जोड़ने के लिए एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाना चाहते हैं। ग्रामीणों के लिए बेहतर आर्थिक के लिए सुदूर क्षेत्रों में काम करने वाले हमारे विभिन्न सामाजिक समूह, चाहे उत्तरकाशी, पिथौरागढ़, देहरादून, चकराता या पहाड़ों में अन्य किसी स्थान में हैं; हम उनके संपर्क में हैं। इस तरह के उद्योगों से जुड़ने के लिए हमने शुरुआत में उनसे दो दौर की बातचीत की है। वे यह जानकर बहुत उत्साहित हैं कि वे ऐसे उद्योग का हिस्सा हो सकते हैं जहाँ वे संगठन के साथ समान रूप से भागीदार हैं। मुझे पूरा यकीन है कि जो मैंने लोगों को विकेंद्रीकृत विकास के साथ जोड़ने का सपना देखा है लोगों को इस औद्योगिक क्रांति से जोड़ेगा और हमारे प्रधानमंत्री जी का नारा ‘आत्मनिर्भर’ की पहल की एक छोटी सी शुरुआत होगी। यह सामाजिक आर्थिक विकास की दिशा में एक छोटा कदम है। हम आपकी उपस्थिति और आपकी चर्चाओं का लाभ उठाना चाहते हैं ताकि इसे दूर दराज के क्षेत्रों में उन सभी लोगों के बीच तक पहुँचने में मदद मिल सके, जहाँ हम नहीं पहुँचे हैं। मेरा विश्वास है कि यह हम सभी के लिए, हमारे माध्यम से एक उद्योग का निर्माण करेगा, जिसमें हम समान भागीदार होंगे और निश्चित रूप से हम इसमें अपना आत्म-सम्मान भी महसूस करेंगे। सभी लोगों की इस शुरुआत के साथ, मैं बहुत उत्साहित हूं कि इस तरह के उद्योग को आज हम सभी ने लॉन्च किया है।और जो की हिमालय विश्वविद्यालय और हेस्को  किसानों, उद्योगपतियों और उद्यमियों के प्रशिक्षण भागीदार हैं जो पूरे हिमालयी क्षेत्र को “एकीकृत हिमालयन मिशन” में जोड़ रहे हैं, इसलिए हमे इस उद्यम से सर्वोत्तम परिणामों की अपेक्षाएं हैं।“

ब्रांड का प्रचार एक महिला उद्यमी श्रीमती अंजलि अंथवाल द्वारा किया गया। उन्हें हिमालय और यहां के लोगों के लिए जिम्मेदारी की गहरी समझ है। उन्होंने कहा “सभी उत्पाद बहुत ही उचित और किफायती हैं और स्वास्थ्य के लिए भी लाभ दायक हैं। स्वदेशी तत्त्व ऑर्गॅनिक्स एक हिमालय का ब्रांड है, जो उत्तराखंड की भूमि से फला-फूला है, जो आयुर्वेदा, होम एसेन्टियल, कॉस्मेटिक और हेल्थ सप्लीमेंट्स और एफएमसीजी उत्पादों पर काम करता है। शुरुवाती दिन से ही मानवता और हिमालय के लिए हमारा प्यार है प्रोत्साहित करता रहा है। हमारी टीम ने बहुत कम समय में देखभाल और जुनून के साथ आयुर्वेदा की प्रामाणिकता वाले उत्पादों की एक श्रृंखला विकसित की है। मिशन “स्वावलम्बी उत्तराखंड”, हिमालयन पर्यावरण अध्ययन और संरक्षण संगठन (हेस्को) और स्वदेशी तत्त्व विज्ञान का एक संयुक्त सपना है। स्वदेशी तत्त्व ऑरगनिक्स, “खेत से कांटे तक” के “कलबोरेटिवे इंडस्ट्रियल रेवोलुशन मोडल ” के साथ हिमालयी किसान को स्वयं के औद्योगिक सेट के साथ एक आत्म-निर्भर उद्यमी में परिवर्तित करता है।  स्वदेशी तत्त्व ऑर्गॅनिक्स  कृषि उत्पादों और हिमालयी क्षेत्र में उगाए उत्पादों को बाजार योग्य मंच उपलब्द करता है। स्वदेशी तत्त्व ऑर्गेनिक्स का अनुसंधान और विकास हिमालया आयुर्वेदिक एवम प्राकर्तिक चिकित्सा संस्थान द्वारा किया गया है। डॉ विनोद उपाध्याय, सीनियर थर्ड जनरेशन आयुर्वेदाचर्य, के नेतृत्व में और विकास हिमालया आयुर्वेदिक एवम प्राकर्तिक चिकित्सा संस्थान द्वारा सभी तकनीकी और बुनियादी ढाँचे प्रदान किये जा रहे हैं। जो मानव के लिए एक कल्याणकारी और लाभकारी उत्पाद तैयार कर रहा है, जिसे स्वदेशी तत्त्व द्वारा प्रचारित किया गया है। हिमालय और आयुर्वेद उत्तराखंड राज्य के विकास के दर्शन के आधार हैं और इसे सभी आयुर्वेदिक उत्पादों और प्रमुख तैयार खाद्य उत्पादों के एक बड़े उत्पादक के रूप में परिवर्तित किया जा सकता है।

इस अवसर पर  आरके जैन, डायरेक्टर सी.एम.आई हॉस्पिटल, चेयरमैन उत्तराखंड माइनॉरिटी कमिशन, जोगिन्दर सिंह पुंडीर, स्टेट वाईस प्रेजिडेंट किसान मोर्चा, डॉ महेश कुड़ियाल, सह संस्थापक सी.एम.आई हॉस्पिटल और विनय भारती, मैनेजिंग डायरेक्टर स्टेट आर्गेनिक बोर्ड, गेस्ट ऑफ़ ऑनर के रूप में उपस्थित थे।  

—————————————————————-

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

ब्रेकिंग: दून में ट्रक के नीचे दबे कई लोग, देखें वीडियो

देहरादून। देहरादून के चंद्रमणि चौक पर एक्सीडेंट की ख़बर है। जहां कई लोग ट्रक के नीचे दबने की सूचना आ रही है। सूचना पर...

श्रद्धापूर्वक मनाया गया गुरु तेग बहादुर का शहीदी दिवस

देहरादून। गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा, आढ़त बाजार, देहरादून के तत्ववाधान में श्री गुरु तेग बहादुर का शहीदी दिवस कथा - कीर्तन के रूप...

गौचर व चिन्यालीसौड़ के लिए जल्द शुरू होगी हवाई सेवा

उड़ान योजना के अगले टेंडर में शामिल की जाएगी गौचर व चिन्यालीसौड़ की हवाई सेवा पिथौरागढ़ से फिक्स्ड विंग एयरक्राफ्ट सेवाएं शुरू करने के लिए...

यूपीसी पैंथर्स बनी अजय गौतम मेमोरियल क्रिकेट टूर्नामेंट का विजेता

उत्तरांचल प्रेस क्लब की  ओर से आयोजित टूर्नामेंट में यूपीसी लॉयंस को छह विकेट से हराया देहरादून। उत्तरांचल प्रेस क्लब की ओर से आयोजित अजय गौतम...

खेलों में भी हैं बेहतर भविष्य की संभावनाएं : रेखा आर्या

खेल मंत्री रेखा आर्या ने किया जिला स्तरीय खेल महाकुंभ का शुभारंभ देहरादून। खेल एवं युवा कल्याण मंत्री रेखा आर्या ने देहरादून स्थित पवेलियन ग्राउंड...

नौसेना में अफसर बना पौड़ी का लाल अभिनव

- नेवल अकादमी में प्रशिक्षण हासिल कर नौसेना में पाया कमीशन - एकेश्वर ब्लाक के चमाली गांव का निवासी है सेकेंड ले. अभिनव रावत देहरादून। पौड़ी...

सीनियर नेशनल बास्केटबॉल चैंपियनशिप के लिए प्रदेश की टीम चयनित

देहरादून। 72वीं सीनियर नेशनल बास्केटबॉल चैंपियनशिप के लिए उत्तराखंड की टीम का चयन कर लिया है। टीम की कमान ओएनजीसी के उदय भान सिंह...

10 दिसंबर को होगी आइएमए में पासिंग आउट परेड

देहरादून। भारतीय सैन्य अकादमी (आइएमए) में पासिंग आउट परेड 10 दिसंबर को होगी। इस दौरान देश-विदेश के जेंटलमैन कैडेट सेना का अभिन्न अंग बनेंगे।...

टेबल टेनिस में तमिलनाडू और पश्चिम बंगाल रहे चैंपियन

देहरादून। उत्तराखण्ड डाक परिमण्डल की ओर से आयोजित 38वीं अखिल भारतीय डाक टेबिल-टेनिस प्रतियोगिता के महिला टीम में तमिलनाडू और पुरूष वर्ग में पश्चिम...

सशक्त उत्तराखण्ड @ 25 को साकार करेगा चिंतन शिविरः सीएम

 महत्वपूर्ण सुझावों को कैबिनेट में लाया जाएगा देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरूवार को लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी, मसूरी में सशक्त उत्तराखण्ड...

Recent Comments

हेमवती नंदन कुकरेती महामंत्री हिन्दी साहित्य समिति देहरादून on हाईकोर्ट ने चारधाम यात्रा पर लगी रोक को कुछ शर्तों के साथ हटाई