Home धर्म-संस्कृति नियाज़ी ब्रदर्स की कव्वाली और सूफी गीत ने किया मंत्रमुग्ध

नियाज़ी ब्रदर्स की कव्वाली और सूफी गीत ने किया मंत्रमुग्ध

देहरादून। विरासत आर्ट एंड हेरिटेज फेस्टिवल 2022 के आठवें दिन की शुरुआत डॉ. बी. आर. अंबेडकर स्टेडियम (कौलागढ़ रोड) देहरादून में आर्ट एंड क्राफ्ट कार्यशाला के साथ हुआ। इस वर्कशॉप में देहरादून के 7 स्कूलों के लगभग 120 छात्र-छात्राओं ने प्रतिभाग किया। इस कार्यशाला के अंतर्गत छात्र-छात्राओं ने शिल्पकार मास्टर के साथ मिलकर विभिन्न प्रकार के कला और आर्ट बनाने का प्रशिक्षण लिया। इस कार्यशाला में टाई एंड डाई, मिट्टी के बर्तन बनाना, जुट की गुड़िया बनाना, गुब्बारे पर कलाकृतियां उकेरना, फेस आर्ट, मंडना आर्ट, ब्लॉक प्रिंटिंग एवं पतंग बनाने जैसे कला शामिल थी।सांस्कृतिक संध्या कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्वलन के साथ हुआ। पंडित उदय कुमार मल्लिक द्वारा ध्रुपद गायन कि प्रस्तुति हुई। उनके द्वारा धमार शैली के धमा ताल में राग रागेश्वरी प्रस्तुत की गई जिनके बोल“ कुंज बिहारी राधा प्यारी एवं शाम भयलबा मोरे मंदरवा प्रस्तुतियां शामिल है वही ठुमरी और भजन के साथ उन्होंने अपनी प्रस्तुति को समाप्त किया। पंडित उदय कुमार मल्लिक के साथ वोकल में रूपेश पाठक, हारमोनियम पर जाकिर ढोलपुरी, तबला पर मिथिलेश झा, तानपुरा पर कुमारी रूपम एवं मुस्कान माही ने अपनी संगत दी।

बताते चले कि पंडित उदय कुमार मल्लिक ध्रुपद अकादमी, नई दिल्ली के संस्थापक हैं। वह विश्व प्रसिद्ध दरभंगा घराने से आते हैं, जो 350 वर्षों से ध्रुपद और पखावज के लिए जाना जाता है, उनके परिवार के कई सदस्य विभिन्न प्रतिष्ठित पुरस्कारों और सम्मानों से सम्मानित हैं।पंडित उदय कुमार मल्लिक भारतीय शास्त्रीय संगीत के समृद्धि एवं विस्तार के लिए समर्पित हैं और वे संगीतकारों की एक नई पीढ़ी को शिक्षा दे रहे हैं। पं. मलिक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर संगीत समारोहों, सम्मेलनों, त्योहारों, टेलीविजन और रेडियो पर प्रदर्शन करते हैं। उनके द्वारा रिकॉर्डिंग कि हूई ऑडियो और वीडियो को बिहार संगीत नाटक अकादमी संग्रहालय, यू.पी. संगीत नाटक अकादमी और केंद्रीय संगीत नाटक अकादमी, दिल्ली द्वारा इस्तेमाल कि जाती है।सांस्कृतिक कार्यक्रम के अन्य प्रस्तुतियों में रामपुर घराने के प्रसिद्ध ’नियाज़ी ब्रदर्स’ द्वारा कव्वाली और सूफी गीत प्रस्तुत किये गए। जिसमे पारंपरिक कव्वाली में हजरत अमीर खुसरो का लिखा हुआ कव्वाली से शुरू किया एवं पंजाबी के साथ-साथ बॉलीवुड से ख्वाजा मेरे ख्वाजा भी प्रस्तुत किया। सहयोगी कलाकारों में माजिद नियांजी और मुकर्रम नियाजी वोकल में वहीं परवेज एवं वासिफ नियाजी ढोलक पर, विजय कुमार तबला और ऋषू कुमार की बोर्ड पर संगत दिया।शाहिद नियाज़ी और सामी नियाज़ी (नियाज़ी ब्रदर्स) जो अपने संगीत के लिए विश्व स्तर पर प्रसिद्ध है एवं वे कव्वाली के रामपुर घराने की 250 साल पुरानी पारिवारिक परंपरा को जारी रखे हुए हैं। उस्ताद नियाज़ी ने कव्वाली को “रूह-ए-ग़िज़ा“ के रूप में वर्णित किया है।

कव्वाली 13वीं शताब्दी में भारतीय, फारसी, तुर्की और अरबी संगीत परंपराओं के श्मिश्रण से बनी। दिल्ली के सूफी संत अमीर खुसरो देहलवी जो सूफियों की चिश्ती धराने से सबंध रखते थे। कव्वाली के केंद्र में प्रेम और परमात्मा की भक्ति होती है।

———————

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

शादी का झांसा देकर दुष्कर्म, आरोपित गिरफ्तार

देहरादून। फ्लैट में सफाई करने वाली एक युवती ने युवक पर शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। पुलिस ने आरोपित...

मुख्यमंत्री ने राहत सामग्री के वाहनों को किया रवाना

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने रविवार को नई दिल्ली स्थित उत्तराखंड सदन में भाजपा उत्तराखंड प्रकोष्ठ, फरीदाबाद व हरियाणा प्रोग्रेसिव स्कूल कांफ्रेंस सहित...

कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने श्री दरबार साहिब में टेका मत्था

श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज से की शिष्टाचार भेंट देहरादून। कृषि एवम् उद्यान मंत्री, उत्तराखण्ड गणेश जोशी ने रविवार को श्री दरबार साहिब में मत्था...

मुख्यमंत्री ने किया मिशन ड्रग्स फ्री देवभूमि का शुभारंभ, बोले – युवा नशे को दृढ़ता से कहें ना

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज जिला कारागार, सुद्धोवाला देहरादून में मिशन ड्रग्स फ्री देवभूमि का शुभारम्भ करते हुए प्रदेशवासियों विशेषकर राज्य के...

UKPSC : उत्तराखंड पटवारी/लेखपाल भर्ती परीक्षा-2022 के प्रवेश-पत्र जारी,इस दिन होगी परीक्षा

उत्तराखंड लोक सेवा आयोग (UKPSC) ने राजस्व उप निरीक्षक (पटवारी / लेखपाल) परीक्षा -2022 के लिए प्रवेश पत्र जारी कर दिया है। उम्मीदवार अपने...

राज्यपाल ने गणतन्त्र दिवस परेड में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले एनसीसी कैडेट्स को किया सम्मानित

देहरादून। राज्यपाल लेफ़्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से.नि.) ने गुरुवार को राजभवन ऑडिटोरियम में एनसीसी निदेशालय उत्तराखण्ड द्वारा आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। कार्यक्रम में...

सूचना आयुक्त ने श्री दरबार साहिब में टेका मत्था

देहरादून। सूचना आयुक्त उत्तराखण्ड योगेश भट्ट ने बुधवार को श्री दरबार साहिब में मत्था टेका। उन्होने श्री दरबार साहिब के श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी...

उत्तराखंड की झांकी को देश में प्रथम स्थान के लिए किया गया पुरस्कृत

कर्तव्य पथ, नई दिल्ली गणतंत्र दिवस समारोह में उत्तराखण्ड राज्य की ओर से “मानसखण्ड” की झांकी प्रदर्शित की गई थी मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के...

जौनसार बावर के प्रसिद्ध लोक कलाकार डॉ. नंद लाल भारती को अंतर्राष्ट्रीय स्तर का ‘कला सारथी’ पुरस्कार मिलने पर किया सम्मानित

देहरादून। जौनसार बावर के प्रसिद्ध लोक कलाकार डॉ. नंद लाल भारती को अंतर्राष्ट्रीय स्तर का ‘कला सारथी’ पुरस्कार से सम्मानित होने पर उन्हें आज...

उत्तराखंड की झांकी ‘मानसखंड’ को मिला प्रथम स्थान

देहरादून। गणतंत्र दिवस परेड में उत्तराखंड की झांकी ‘मानसखंड’ को देशभर की झांकियों में प्रथम स्थान मिला है। सूचना विभाग ने संयुक्त निदेशक केएस...

Recent Comments

हेमवती नंदन कुकरेती महामंत्री हिन्दी साहित्य समिति देहरादून on हाईकोर्ट ने चारधाम यात्रा पर लगी रोक को कुछ शर्तों के साथ हटाई